|| INDIA'S NO : 1 SHAYARI SITE || DAILY UPDATES || ONLY SELECTED SMS - STATUS - SHAYARI - JOKES ||

User: shayari123

Added 7 months ago

बिखरे थे जो अल्फ़ाज इस कायनात में
समेंटा है उन्हें चंद पन्नों की किताब में
अब दुआ नहीं मांगता बस पूंछता हुं खुदा से
अभी कितनी सांसे और हैं हिसाब में..??

Added 7 months ago

ना-उम्मीदी मौत से कहती है, अपना काम कर...
आस कहती है, ठहर, ख़त का जवाब आने को है!!!
---------------
हाथों में हाँथ थामा उसने तो, महसूस हुआ मुजको,
कि इश्क़ में एहसासों को, अल्फ़ाज़ों की जरूरत नहीं होती!

Added 7 months ago

सरे महफिल जो बोलूं तो ज़माने को खटकता हूँ;
रहूं मैं चुप, तो अंदर की बग़ावत मार देती है....

Added 7 months ago

तुम लाख छुपाओ सीने में एहसास हमारी चाहत का
दिल जब भी तुम्हारा धड़का है आवाज़ यहाँ तक आई है.

Added 7 months ago

देखना किसीकी आँख तुम्हारी वजह से नम न हो,
क्यूंकि तुम्हें उसके हर एक आँसूं का क़र्ज़ चुकाना होगा !!.

Added 8 months ago

Yaad ki nagari me aaj fir koi kafir aaya ''
fulo se saji sej pe fir koi rajkumar aaya''
barso bad aaj fir tare mare milan ka tyohar aaya ''
lo aaj fir apani yaado ka sawan aaya ''

« Previous 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 Next »

Jump to Page

advertisements

Share Facebook